Raama Mehra’s New Film Khandala Night Won’t Let You Sleep

Little Known facts About Producer Director  Raama  Mehra

राकेश रोशन की तरह  ” K  ” से फिल्म बनाने  बाले लेखक निर्माता / निर्देशक  रामा मेहरा

बॉलीवुड में राकेश रोशन की तरह के नाम एक और निर्माता और निर्देशक  जिस का नाम GBरामा मेहरा जिन्होंने अपनी सभी फिल्म फिल्म के बनाई हैं भले ही हॉरर फिल्मों का ट्रेंड चल रहा हो लेकिन सभी हॉरर फिल्में दर्शकों को पसंद नहीं आती। सफल हॉरर फिल्म अच्छी स्क्रिप्ट, अच्छा साउंड और अच्छी तकनीक से निखरती है और उसे निखारता है काबिल निर्देशक, जिसे लिखने और फिल्में बनाने का अनुभव हो। अभिनेता, लेखक, निर्माता और निर्देशक रामा मेहरा अनुभव का खजाना हैं, जो 30 वर्षों के अपने सिनेमाई सफर में अब तक करीब 21 फिल्मों में हीरो, 17 फिल्मों का निर्माण और चार फिल्मों का लेखन-निर्देशन कर चुके हैं। अब ‘खंडाला नाइट’ की रिलीज़ के तैयार हैं, जो हॉरर फिल्म है। यह एक ऐसे शख्स की कहानी है, जो बिजनेस के सिलसिले में खंडाला जाता है। वहां रोज़ी नाम की लडक़ी के साथ उसके शारीरिक संबंध कायम हो जाते हैं। इस बीच रोज़ी शादी के लिए ज़ोर डालने लगती है लेकिन युवक शादीशुदा है इसलिए कर पाना उसके लिए संभव नहीं। परेशान होकर रोज़ी आत्महत्या कर लेती है। युवक उसकी लाश को ठिकाने लगा देता है। फिल्म में यहीं से हॉरर का रूप लेती है।

वह युवक पत्नी के साथ दोबारा खंडाला आता है लेकिन अब यहां चैन से समय बिता पाना उसके लिए आसान नहीं क्योंकि रोज़ी की आत्मा भटक रही है, जो युवक की पत्नी को बार-बार परेशान करने लगती है। क्या आत्मा अपना बदला ले पाएगी? इस सवाल का जवाब फिल्म खंडाला नाइट देखने पर ही मिलेगा। खंडाला नाइट रामा मेहरा का होम प्रोडक्शन है। इससे पहले उनके साथ अन्य निर्माता भी जुड़े रहे हैं, लेकिन बतौर एक्टर, प्रोड्यूसर और राइटर यह उनकी पहली फिल्म है जिसके निर्देशक हैं शंकर मेहरा। इससे पहले रामा मेहरा कसम मैया की, कोहेनूर डीलेक्स होटल और कीप सेफ डिस्टेंस का भी लेखन और निर्देशन कर चुके हैं।

रामा मेहरा के लिए यह सम्मान की बात है कि उनकी फिल्म खंडाला नाइट को गोवा फिल्म फेस्टिवल में बेस्ट फिल्म और रामा मेहरा को बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिल चुका है। खास बात ये है कि उनकी हर फिल्म के नाम का पहला अक्षर ‘के’ से शुरू होता है रामा मेहरा राकेश रोशन से इंस्पायर्ड हैं जिनके यहां में उन्होंने कई साल तक संघर्ष किया। राकेश रोशन भी अपनी हर फिल्म का नाम ‘के’ से ही रखते हैं। कारण पूछने पर रामा मेहरा कहते हैं कि मेरी पहली फिल्म कर्मदाता थी, जो दर्शकों को पसंद आई। उसके बाद काली घटा बनाई। फिर ‘के’ से फिल्म का नाम रखने का सिलसिला शुरू हो गया जो आज तक चला आ रहा है। इसी ‘के’ ने बॉलीवुड में मेरा वजूद कायम रखा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *